पहली पसंद राहुल गांधी फिर अशोक गहलोत को समर्थन, कांग्रेस में अलग-थलग पड़ रहे हैं शशि थरूर

by admin
Spread the love

नई दिल्ली । कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव की प्रक्रिया शुरू होने में दो दिनों का समय बचा है। खबर है कि 24 सितंबर से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। फिलहाल, चुनाव राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और तिरुवनंतपुरम सांसद शशि थरूर के बीच माना जा रहा है। लेकिन कांग्रेस नेताओं की प्रतिक्रियाएं संकेत दे रही हैं कि थरूर को पार्टी में ही समर्थन नहीं मिल रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने गुरुवार को ‘कार्यकर्ता के रूप में’ कहा कि पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ही दोबारा कमान संभालें। उन्होंने ट्वीट किया, करोड़ों कार्यकर्ताओं की तरह मेरी पहली इच्छा तो यह है कि राहुल गांधी जी कांग्रेस और देश को अपना नेतृत्व दें। इधर, करीब एक दर्जन राज्यों में कांग्रेस इकाइयों ने भी राहुल के समर्थन में प्रस्ताव पास कर दिए हैं। इनमें पंजाब, गोवा, राजस्थान, छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, बिहार और जम्मू-कश्मीर का नाम शामिल है। वहीं, कई नेता भी खुलकर वायनाड सांसद को ही कप्तान की भूमिका में देखना चाहते हैं। मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कई बड़े नेता कह चुके हैं कि राहुल को अध्यक्ष पद संभालना चाहिए। वल्लभ ने लिखा, ‘लेकिन यदि राहुल गांधीजी अपने फ़ैसले पर तटस्थ हैं और सार्वजनिक चर्चा में जो दो नाम सामने आ रहे हैं, उसमें से किसी एक को चुनना हो तो दोनों में कोई तुलना ही नहीं हो सकती है। उन्होंने अध्यक्ष के चयन को आसान बताया। वह लिखते हैं, ‘एक तरफ कार्यकर्ताओं व ज़मीन से जुड़े हुए अशोक गहलोत जी, जिन्हें 3 बार केंद्रीय मंत्री, 3 बार मुख्यमंत्री, 5 बार सांसद, 5 बार विधायक रहने का अनुभव हो, जिन्होंने सीधी टक्कर में मोदी-शाह को पटखनी दी हो, जिनका 45 वर्ष का निष्कलंक राजनीतिक जीवन हो। उन्होंने एक अन्य ट्वीट किया, ‘वहीं दूसरी तरफ शशि थरूर साहब हैं, जिनका पिछले 8 वर्षों में पार्टी के लिए एक ही प्रमुख योगदान है- कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी जी को तब चिट्ठियां भेजी जब वह अस्पताल में भर्ती थीं, इस कृत्य ने मेरे जैसे पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं को पीड़ा पहुंचाई। चयन बहुत सरल और स्पष्ट है। लोकसभा में कांग्रेस के चीफ व्हिप के सुरेश ने कहा, ‘शशि थरूर को चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। वह एक अंतरराष्ट्रीय व्यक्ति हैं।’ उन्होंने कहा, ‘यहां आम सहमति से उम्मीदवार चुना जाना चाहिए। हम अभी भी राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए अनुरोध कर रहे हैं।’ एक अन्य सांसद बेनी बेहनान ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता शशि थरूर लड़ेंगे और वह पार्टी आलाकमान के निर्देशों को मानेंगे।

Related Articles

Leave a Comment